ओजोन प्रदुषण

ओजोन प्रदुषण (Ozone Pollution)   

प्रदुषण :- पर्यावरण का भिन्न-भिन्न प्रकार से दुषित होना प्रदुषण कहलाता है। इसका सीधा और विपरीत प्रभाव सजीवों पर पड़ता है

ओजोन प्रदुषण क्या है :-   ओजोन परत का पर्यावरणीय प्रदुषण के माध्यम से कम होना ही ओजोन प्रदुषण है यथा – फ्रियोन, क्लोरो-फ्लोरो कार्बन इत्यादि इसके लिए हानिकारक गैसे है। आज लगातार इन कारणों से ओजोन परत का आकार कम होता जा रहा है जिससे अनेक प्रकार की बिमारियाँ बढ़ रही है। जैसे चर्म रोग। ओजोन का रासायनिक सूत्र O3 है।

SAFAR के पूर्वानुमान के अनुसार बढ़ते तापमान के साथ दिल्ली में सतही ओजोन के प्रदुषण में वृद्धि होने की संभावना है।

ओजोन के प्रकार (Types of Ozone)

अच्छी ओजोन (Good Ozone) :-  1. पृथ्वी के ऊपरी वायुमंडल में स्वाभाविक रूप से होती है। 2. इसको Good Ozone इसलिए कहा जाता है कि यह हमारे लिए सुरक्षात्मक ढाल का कार्य करती है क्योंकि सूर्य से आने वाली पराबैंगनी विकिरणों से बचाती है। 3. इसको समतापमंडलीय ओजोन के नाम से भी जाना जाता है। 4. इसमें छेद का प्रमुख जिम्मेदार कारक CFC है, जो फ्रिज और आदि के उपयोग से विमुक्त होती है।

ओजोन प्रदुषण - ShivaGStudyPoint
Ozone Layer
बुरी/हानिकारक ओजोन (Bad Ozone) :- 1. यह जमीनी स्तर पर पाई जाने वाली गैस है, जो सीधे हवा में उत्सर्जित नहीं होती है। 2. इसको क्षोभमंडलीय या सतही ओजोन भी कहा जाता है। 3. यह नाइट्रोजन ऑक्साइड और अस्थिर कार्बनिक यौगिकों की रासायनिक प्रक्रियाओं द्वारा उत्पन्न होती है। 4. यह जमीनी स्तर पर हानिकारक वायु प्रदुषक है। 5. Smog का घटक भी है।
ओजोन प्रदुषण का प्रभाव (Effect of Ozone)
स्वास्थ्य :- 1. फेफड़ों के काम करने की दक्षता में कमी आती है। 2. श्वास के जरियें ओजोन शरीर में जाने से जीवन की आयु कम हो जाती है। 3. गले में जलन और श्वास की नली में सूजन आदि हो सकता है। 4. कार्डियोवैस्कुलर बिमारी हो सकती है।
पर्यावरण :- वनों, पार्कों एवं वन्यजीव इत्यादि सहित वनस्पति और पारिस्थितिक तंत्र को नुकसान पहँचाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share on facebook
Share on google
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on print
x